नक्सलियों ने महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में बड़ा आईईडी ब्लास्ट किया है, जिसमें 15 कमांडो शहीद हो गए हैं. नक्सलियों ने C60 कमांडो की टीम पर घात लगाकर हमला किया. पिछले 2 सालों में महाराष्ट्र में नक्सलियों का यह सबसे बड़ा हमला माना जा रहा है.

नक्सलियों ने महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में बड़ा आईईडी ब्लास्ट किया है, जिसमें 15 कमांडो शहीद हो गए हैं. नक्सलियों ने C60 कमांडो की गश्ती टीम पर घात लगाकर हमला किया. पिछले 2 सालों में महाराष्ट्र में नक्सलियों का यह सबसे बड़ा हमला माना जा रहा है.गढ़चिरौली में पिछले कुछ दिनों में नक्सलियों की गतिविधियां बढ़ गई हैं.

C60 कमांडो की टीम पर नक्सलियों ने यह हमला कुरखेड़ा-कोरची रोड के पास किया. इस धमाके में 15 कमांडो शहीद हो गए. घटनास्थल पर नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच फायरिंग चल रही है.

कमांडो पर नक्सली हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस समेत कई नेताओं की इसकी निंदा की है.







गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने महाराष्ट्र पुलिस के जवानों पर हमले की कड़ी निंदा की और इस हमले को कायराना हरकत करार दिया. साथ ही कहा कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. शोकाकुल परिवार को हमारी गहरी संवेदना.







इस हमले से 3 हफ्ते पूर्व 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान से पहले गढ़चिरौली के एक पोलिंग बूथ के पास नक्सलियों ने आईईडी धमाका किया था, हालांकि इस धमाके में कोई घायल नहीं हुआ था. इससे पहले बुधवार की सुबह नक्सलियों ने गढ़चिरौली जिले के कुरखेड़ा में निर्माणाधीन सड़क के पास 27 मशीनों और वाहनों में आग लगा दी थी

पहले 10 कमांडो के घायल होने की खबर आई थी. नक्सलियों ने 16 सुरक्षाकर्मियों को लेकर जा रहे पुलिस के वाहन पर यह धमाका किया




C60 पर ठीक एक साल बाद इस तरह का हमला किया गया है. इससे पहले पिछले साल अप्रैल में गढ़चिरौली में एक बड़े एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने 40 माओवादियों को मार गिराया था.

25 वाहनों को आग लगाई

इससे पहले नक्सलियों ने गढ़चिरौली में एक सड़क निर्माण कंपनी के करीब 25 वाहनों में आग लगा दी. गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवाडे ने बताया कि यह घटना कुरखेडा तहसील के दादापुर में हुई. उन्होंने कहा कि माओवादियों का एक समूह तड़के 3.30 बजे दादापुर में जमा हुआ जहां पिछले कुछ महीने से राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण का काम चल रहा है.

उन्होंने कहा कि सड़कों पर खड़े वाहनों में कैरोसिन और डीजल डाल कर आग लगा दी. वाहनों में आग लगाने के बाद नक्सली जंगल में भाग गए. तलाश अभियान शुरू किया गया है.